unnamed (3)
2
4
5
6
3
राज्य

नगर में लगा कूड़े का ढेर स्थानीय लोगों के साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जताई महामारी की आशंका

नगर में लगा कूड़े का ढेर स्थानीय लोगों के साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जताई महामारी की आशंका

नदीम परवेज़

धारचूला/उतराखंड
25  जुलाई
प्रदेश भर में सफाई कर्मचारियों के हड़ताल में जाने से उसका असर पूरे प्रदेश में पड़ रहा है ।लेकिन इसका असर सीमांत बोर्डर क्षेत्र धारचूला में भी देखने को मिल रहा है । धारचूला मैं भी सफाई कर्मचारियों के हड़ताल में जाने से जगह जगह कूड़े के ढेर लगे गये है । जिसकी दुर्गंध से लोगो का बाजार में निकलना मुश्किल हो गया है । वही उपजिला चिकित्सालय के पास कूड़े का ढेर लगने से अस्पताल में भी दुर्गंध फेलने लगी है ।
डबल्यू एच ओ के द्वारा जहा कोरोना की तीसरे लहर की आने का अंदेशा जताया है । वही दूसरी ओर प्रदेश में सफाई कर्मचारियों के हड़ताल में जाने से अन्य बीमारियों के फैलने का खतरा बड़ गया है । अस्पताल परिसर के बाहर कूड़े का ढेर लगने की वजह से अस्पताल प्रबंधन ने भी महामारी फैलने की आशंका जताई है ।सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ महेंद्र जायसवाल ने बताया की सफाई कर्मचारियों के हड़ताल में जाने से नगर में कूड़े के ढेर लगे है। जिससे कोरोना महामारी के साथ ही अन्य बीमारियों का क्षेत्र में खतरा बड़ रहा है । नगर में लग रहे कूड़े के ढेर से आक्रोशित कॉंग्रेस कार्यकर्ताओ ने कूड़ा हटाने की मांग को लेकर एसडीएम से मुलाकात की, नगर में संक्रमण फैलने की आशंका जताई।प्रदेश सचिव कांग्रेस नेत्र कुंवर ने कहा कि सफाई कर्मचारियों के आंदोलन को आज 7 दिन बीत चुके नगर कूड़े के ढेर से पटा पड़ा है ऐसे में संक्रमण का खतरा भी बढ़ रहा है सरकार जनता के स्वास्थ्य के प्रति गम्भीर नही सफाई कर्मचारियों की मांग को भी जल्दी पूरा करना चाहिए जिससे सभी को राहत मिले।वही धारचूला के स्थानीय राकेश सिंह ने बताया की अस्पताल के बाहर गंदगी का अंबार लगा है जिससे वैक्सीनेशन मैं पहुंचे लोगों को परेशानी हो रही है । और कूड़े के ढेर के पास ही पीने के पानी का स्रोत है। जिससे धारचूला में पानी की सप्लाई होती है ।जिसके लिए यहां पर लोगों की आवाजाही रहती है ।गंदगी फैलने से लोगों के स्वास्थ्य मैं भी असर पड़ सकता है ।

Related Articles

Back to top button