unnamed (3)
2
4
5
6
3
ब्रेकिंग न्यूज़

हिमाचल में पहली बार नूरपुर तथा अन्य क्षेत्रों में खैर के पेड़ों को जड़ो के साथ काट लिया गया-रणवीर सिंह(निक्का)

हिमाचल में पहली बार नूरपुर तथा अन्य क्षेत्रों में खैर के पेड़ों को जड़ो के साथ काट लिया गया-रणवीर सिंह(निक्का)

नूरपुर

भूषण शर्मा

10अप्रेल
नूरपुर के भाजपा नेता रणवीर सिंह निक्का ने विकास खण्ड की मिलख पँचायत के चोंकी गांव में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान अपनी की सरकार के वन विभाग पर आरोप लगाते हुए कहा कि हिमाचल में पहली बार नूरपुर तथा अन्य क्षेत्रों में खैर के पेड़ों को जड़ो के साथ काट लिया गया है। हिमाचल में वन माफिया को शह दी जा रही है तथा इसकी लीपापोती निहत्थे कर्मचारियों को सस्पेंड करके की जा रही है।निक्का ने अप्रत्यक्ष रूप से वन मंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि यदि वन का मुखिया सख्त हो तो वह माफिया की क्या मजाल। निक्का ने कहा कि नूरपुर में वन माफिया तथा नशा माफिया सरकार पर हावी हो चुका है। नशा खत्म करने के लिए एएसपी कार्यलय कागजों में तो खोला गया लेकिन राजनीतिक इच्छा शक्ति न होने के कारण आज नूरपुर तथा आस पास के क्षेत्रों में युवा नशे के शिकार हो गए है।  निक्का ने कहा कि नूरपुर में नेता चुनाव जीत कर अपने परिवारों के बारे में सोचना शुरू कर देते है। जिस नेता को अपने परिवार की चिंता होती है वो जनता की चिंता नहीं कर सकते। नेताओं को अपने बेटे, बेटे दिखाई देते है और दूसरों के बेटे जनसंख्या।

जो मेरे से डरते है वो मेरा पत्ता काट रहे।

निक्का ने कहा कि वह कुछ समय से भ्र्ष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रहे है, इससे भाजपा सरकार को तकलीफ नहीं बल्कि कुछ नेताओं को तकलीफ है जिनको मेरे से डर लग रहा है। इसी डर के कारण पार्टी से मेरा पत्ता काट रहे है लेकिन जनता इस बार उनका पत्ता काटने का मन बना चुकी है।

महाजन साहब क्यों नही उठाते भ्र्ष्टाचार के खिलाफ आवाज।

निक्का ने कहा कि नूरपुर मेंं सत्ता की सेटिंग पिछले कई सालों से चल रही है। नेताओं ने 5-5 बांटे हुए है। अब अजय महाजन साहब अपनी बारी का इंतजार कर रहे है लेकिन वह महाजन साहब से प्रश्न करना चाहते है क्या उन्होंने साढे 4 साल मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाई है। क्षेत्र में बढ़ रहे भ्र्ष्टाचार के खिलाफ आवाज क्यों नही उठाई।

Related Articles

Back to top button