unnamed (3)
2
4
5
6
3
ब्रेकिंग न्यूज़

जिला के 85 प्रतिशत बेसहारा गौवंश को दिया गया आश्रेयः एडीसी

जिला के 85 प्रतिशत बेसहारा गौवंश को दिया गया आश्रेयः एडीसी
जिला स्तरीय पशु अत्याचार निवारण समिति की बैठक में बोले डॉ. अमित कुमार शर्मा
ऊना
पंकज कतना
2 मई


जिला ऊना के 85 प्रतिशत बेसहारा गौवंश को विभिन्न गौसदनों में आश्रेय प्रदान किया गया है तथा जल्द ही हरोली उपमंडल के तहत बीटन में भी गौ अभ्यारण्य का निर्माण कार्य आरंभ हो जाएगा, जिसके बाद सभी बेसहारा गौवंश को सहारा प्रदान कर दिया जाएगा। यह बात एडीसी ऊना डॉ. अमित कुमार शर्मा ने पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत गठित जिला स्तरीय पशु अत्याचार निवारण समिति की एक बैठक में कही। डॉ. अमित शर्मा ने कहा कि बीटन में गौ अभ्यारण्य के निर्माण की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने जा रही है, जिसके बाद जिला में बेसहारा गौवंश की समस्या का स्थाई समाधान हो जाएगा।


बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि जिला में आवारा कुत्तों की समस्या के निदान के लिए भी जिला प्रशासन गंभीर प्रयास कर रहा है। इसके लिए मलाहत में पशु प्रजनन नियंत्रण केंद्र को जल्द ही शुरू किया जा रहा है, जहां पर आवारा कुत्तों की नसबंदी की जा सकेगी। इसके अतिरिक्त प्रति वर्ष 6 जुलाई को आयोजित किए जाने वाले विश्व जूनोसिस दिवस के उपलक्ष्य पर जिला में 6 स्थानों पर पशु प्रजनन नियंत्रण कैंप लगाए जाएंगे, जहां पर आवारा कुत्तों की नसबंदी की जाएगी। इन कैंप को सफल बनाने के लिए पशु पालन विभाग के साथ-साथ शहरी निकायों व पंचायतों को भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जाएंगे।


डॉ. अमित कुमार शर्मा ने कहा कि पालतू कुत्तों का शहरी निकायों के साथ पंजीकरण आवश्यक हैं। इसके लिए मालिक को नगर परिषद या अन्य शहरी निकायों के साथ संपर्क करना चाहिए। इस कार्य के बारे में जागरूकता लाने को शहरी निकायों को जल्द ही विशेष अभियान छेड़ने के निर्देश दिए गए हैं। अभियान के दौरान पालतू कुत्तों का पंजीकरण किया जाएगा। बैठक में समिति के सरकारी व गैर सरकारी सदस्य उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button