राज्य

 सावन के पहले सोमवार को शिवालयों में उमड़ी भीड़

सावन के पहले सोमवार को शिवालयों में उमड़ी भीड़

ऋषिकेश/उतराखंड
संजय शर्मा

26 जुलाई

 

सावन माह के प्रथम सोमवार को ऋषिकेश के शिवालयों में उमड़ी भीड़ करोना के चलते जिस तरह से भीड़ मंदिरों में देखी जा रही है कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं हो पा रहा है कोरोना के सामने आस्था पर भारी पड़ रही है आज इस पवित्र सावन माह में लोगों का जोश देखने को मिल रहा है हजारों की संख्या में यहां लोग भगवान महादेव को जल अर्पित करने के लिए पहुंच रहे हैं
ऋषिकेश का प्रसिद्ध स्वयंभू शिवलिंग चंद्रेश्वर महादेव इनका अपना ही एक इतिहास है कहते हैं जब चंद्रमा को कपिल मुनि ने श्राप दे दिया था तब उनको क्षय रोग हो गया था और क्षय रोग से बचने के लिए उस रोग से मुक्ति के लिए भगवान शिव की आराधना की हजारों साल आराधना करने के बाद भगवान शिव प्रसन्न होकर इसी चंदेश्वर महादेव मंदिर पर उनको इस रोग से मुक्त किया और उनको अपने शीश पर इस पर भी स्थान दिया तब से इस शिवलिंग को चंदेश्वर महादेव के नाम से पहचाना जाता है हजारों साल पुरानी इस मंदिर में लोगों की आस्था जुड़ी हुई है कहते हैं कि कोई अगर सच्चे मन से कुछ मांग ले तो वह कभी खाली नहीं जाता इस मंदिर का इतिहास पुराणों में भी लिखा हुआ है उसमें भी चंदेश्वर महादेव को स्वयंभू शिवलिंग के नाम से संबोधित किया गया है
कोरोनकी गाइड लाइन का कोई पालन नही हो रहा है हमारी खबर चलने के बाद पुलिस का बंदोबस्त किया गया

Related Articles

Back to top button